Saturday, March 30, 2019

बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट के बारे में चौंकाने वाली बातें

बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट के बारे में चौंकाने वाली बातें

बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट का चेयरमैन कैसे बना और इसने ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने का आइडिया कहा से चुकाया? इन सभी सवालों का जवाब आपको आज इसी पोस्ट में मिल जायेगा।

bill gates and Microsoft

Bill गेट्स की कहानी हैरान करनी है जिस ने इसकी जिंदगी तब्दील करदी। इस बात में कोई शक नहीं है की बिल गेट्स दुनिया का एक कामयाब तरीन आदमी है लेकिन क्या आप जानते है की इसको ये कामयाबी कैसे और किस तरह से मिली?


Bill Gates and Master Mind Gary Kildall

अगर किसी से पूछा जाए की बिल गेट्स कौन है तो सभी ये जवाब देंगे की बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट का चेयरमैन है। लेकिन असल में इसकी असली कहानी क्या है, ये बहुत काम लोग जानते है।

माइक्रोसॉफ्ट और बिल गेट्स की कामयाबी Gary Kildall एक नामी आदमी से शुरू होती है जो एक कंप्यूटर एक्सपर्ट था। पुराने ज़माने में जब लोगो को कंप्यूटर तक चलना नहीं आता था तो Gary Kildall कंप्यूटर प्रोग्रामिंग को ABC की तरह लिखता था।

Gary Kildall एक जीनियस आदमी था जिसको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के बारे में बहुत ज्यादा नॉलेज थी। एहि वह आदमी है जिस ने बिल गेट्स को इतना बड़ा आदमी बना दिया। दरअसल Gary Kildall की एक गलती ने उसकी किस्मत में माइक्रोसॉफ्ट का नाम हटा कर बिल गेट्स लगा दिया।

साल 1977 में एप्पल ने अपना पहला कंप्यूटर बना लिया जो उस समय का सबसे बढ़िया कंप्यूटर मन जाया करता था। एप्पल का ये कंप्यूटर कुछ ही समय में बहुत मशहूर हो गया।

उस समय की एक बहुत बड़ी टेक कंपनी IBM ने एप्पल की कामयाबी देख कर अपना कंप्यूटर बनाने का फैसला कर दिया ताकि वह भी अपना नाम एप्पल की तरह हासिल करे।

साल 1980 में IBM कंपनी ने कंप्यूटर बना लिया लेकिन उनका ये कंप्यूटर बिना ऑपरेशन का था जिस को पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर की ज़रुरत थी। यहीं से बिल गेट्स की कामयाबी की शुरुआत हुई।

बिल गेट्स एक प्रतिभाशाली व्यक्ति था और इसी बात को नज़र में रखते हुए IBM ने इसको अपने कंप्यूटर के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने को कहा। IBM से पहले बिल गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट बना लिया था और इसको पुरे 5 साल हो चुके थे।

IBM ने बिल गेट्स के साथ एक एग्रीमेंट किया जिस में ये लिखा था की बिल गेट्स IBM का ये सीक्रेट प्लान किसी से भी ना कहे। गेट्स ने IBM से कहा की उनके पास अभी कोई सॉफ्टवेयर मौजूद नहीं है।

गेट्स ने IBM से Gary Kildall का नाम बताया ताकि वह इस कंपनी के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बना सके। इस से पहले मैं आपको ये बताता चलो की Gary ने IBM से पहले दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम बनाया था जिस का नाम CM/P था।

Gary ने CP/M ऑपरेटिंग सिस्टम 1972 में बनाया था। 1972 से पहले सभी अलग-अलग ऑपरेटिंग सिस्टम हुआ करता था लेकिन Gary ने CP/M बना कर इस समस्या को दूर कर दिया और सभी कम्प्यूटर्स के लिए CP/M बनाया।

Gary एक बिजनेसमैन की तरह नहीं सोचता था। इस लिए इसने पैसों के लिए कभी काम नहीं किया था लेकिन इसकी बीवी ने Gary को अपनी कंपनी खोलने के लिए मजबूर किया और आखिर में Gary ने Digital Research नाम से एक कंपनी खोली जो अपने समय की सबसे अछि और मैसूर कंपनी थी।

जैसा की मैंने पहले बताया की बिल गेट्स ने IBM के साथ एग्रीमेंट किया था और उस एग्रीमेंट के अनुसार बिल गेट्स ने Gary को IBM के बारे में नहीं बताया लेकिन बिल गेट्स ने Gary को बस इतना बताया की मैं आपके पास कुछ लोगो को भेज रहा हु उनसे मिल लेना।

Gary ने गेट्स की बातों को सीरियसली नहीं लिया और उस ने गेट्स की बात को भुला कर एक जहाज़ किराये पर लिया और कहीं घूमने चला गया। ये दिन Gary की ज़िंदगी का सबसे बुरा था।

IBM के लोग इसके घर पहुंचे और इनकी बात इसकी बीवी से हुई। जैसा की मैंने पहले कहा की Gary की बीवी अपने ज़िद कर के अपनी कंपनी खोली थी तो इसने IBM का काम करने से साफ़ इंकार कर दिया। ये बात Gary को पता नहीं चली और इसके हाथ से समय निकल पड़ा।

IBM ने बिल गेट्स को ये बात बता दी की Gary की वाइफ ने साफ़ इंकार कर दिया। गेट्स ने ये फैसला कर लिया की अब वह IBM के साथ काम कर के सेटल हो जायेगा। गेट्स ने अपने छोटी कंपनी Seattle Computer की मदद से एक ऑपरेटिंग सिस्टम ख़रीदा जिस की कीमत 75000 dollar था।

ये ऑपरेटिंग सिस्टम Gary के CP/M की कॉपी थी जिसका नाम गेट्स ने 86-DOS था। बिल गेट्स ने इस ऑपरेटिंग सिस्टम को CP/M से विभिन्न बनाने के लिए इस में कुछ परिवर्तन कर दिया ताकि ये Gary के CP/M से विभिन्न लगे। आखिर में गेट्स ने इस का नाम MS-DOS कर दिया जिसकी मदद से IBM ने अपना पहला कंप्यूटर 1981 तैयार कर लिया।

MS-DOS देखते ही देखते इतना लोकप्रिय हो गया की इसने एप्पल को भी पीछे छोड़े दिया। पहले 2 सालों में IBM ने 20,00,000 कंप्यूटर बेचे और गेट्स भी बहुत फेमस आदमी बन गया।

गेट्स में अपने ऑपरेटिंग स्यतेम को दूसरी कंपनियों को बेच दिया और देखते ही देखते ये एक अमीर आदमी बन गया।

उधर Gary को साडी बातों का पता चल गया और उसने बिल गेट्स के साथ साथ IBM को भी अदालत में ले जाने की ठान ली। IBM को सुलझाने के लिए Gary का ऑपरेटिंग सिस्टम भी लिया और उनसे कहा की की हम आपका OS और बिल गेट्स का OS मार्किट में लगा देंगे। लोगों को जो पसंद आएगा गए उसी का OS पैसे कमा सकता है।

दोनों OS एक जैसे थे और फिर भी IBM ने ना जाने क्यों Gary के OS की कीमत 140 dollar रख दी और गेट्स के OS की कीमत केवल 40 dollar रख दी। दोनों OS एक जैसे होने की वजह से लोगो ने बिल गेट्स का 40 डॉलर वाला OS ख़रीदा और Gary का 140 वाला किसी ने भी नहीं लिया।

Gary बहुत ही अपसेट हो गया और उसने अपनी बिकी से तलाक लिया। इस तरह से बिल गेट्स ने Gary का operating system को कॉपी कर के अमीर आदमी बन गया।

दुनिया में जितने भी अमीर तरीन लोग है उनके साथ किसी न किसी तरह का विवादास्पद हुआ है जो आम आदमी के ख्याल से भी बहार होता है। अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी तो इससे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Read other related articles

Also read other articles

© Copyright 2019 TechLekhak | All Right Reserved