Wednesday, April 10, 2019

फेसबुक निष्क्रिय यूजर्स को भी ट्रैक कर रहा है

फेसबुक अकाउंट डीएक्टिवेट करने के बाद आपको ट्रैक क्या किया जाता है? अगर आप सोंच रहे है की अकाउंट को बंद या डिलीट करने के बाद आपका रिश्ता फेसबुक से टूट जाता है आप आप गलत है। फेसबुक खातों को निष्क्रिय करने के बाद भी अपने उपयोगकर्ताओं को ट्रैक करता है।

facebook tracking its users

Facebook अकाउंट डीएक्टिवेट करने के बाद भी अपने उसेर्स को ट्रैक करता है जिस के जरिये वह उपयोगकर्ताओं का देता विज्ञापनदाताओं के साथ शेयर करता है। CNET की एक रिपोर्ट में बताया गया है की फेसबुक विकलांग खाते से भी उसेर्स को ट्रैक करता है।

फेसबुक ने इस बात की पुष्टि की है की विकलांग खता केवल ऑनलाइन की दुनिया में गायब रहता है लेकिन इस बात का इनकी पालिसी से कोई लेना देना नहीं है।

फेसबुक ने अपनी डाटा पालिसी में निष्क्रिय और अक्षम अकाउंट के बारे में ये नहीं कहा है की वे उपयोगकर्ता डेटा एकत्र कर रहे हैं। कई उपयोगकर्ता अपने खातों को निष्क्रिय कर देते हैं ताकि फेसबुक उन्हें ट्रैक करना बंद कर सके लेकिन अब ये बात भी क्लियर हो चुकी है की फेसबुक डाटा पालिसी का कितना उल्लंघन करता आया है।

अगर कोई यूजर अपना अकाउंट डिलीट करता है तो फेसबुक अकाउंट को 30 दिन डिलीट होने में लगते है ताकि डिलीट किये गए अकाउंट मालिक अपना विचार बदल दे। ऐसा इस लिए होता है क्यों की जब फेसबुक अकाउंट को एक बार स्थायी रूप से हटाया जाता है तो फिर देलेटेड अकाउंट को एक्टिवटे नहीं किया जा सकता है।

अगर आप अपना अकाउंट डिलीट करते है तो डिलीट होने से पहले फेसबुक आपका 30 दिन तक ट्रैक कर सकता है ताकि वे आपका डेटा उनके विज्ञापनदाताओं के साथ साझा करते है।

क्या आपका खाता निष्क्रिय होने के बाद फेसबुक वास्तव में आप पर जासूसी कर रहे हैं? अपनी टिप्पणी लिखें और हमें बताएं कि आप फेसबुक की डेटा नीति के बारे में क्या सोचते हैं।

Monday, April 08, 2019

फेसबुक सबसे बड़ा वर्चुअल कब्रिस्तान बन जाएगा

2098 के अंत तक फेसबुक दुनिया का सबसे बड़ा आभासी कब्रिस्तान होगा। क्या आपको मेरी बात मजाज़ लग रही है? दुनिया में लगभग ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जिसके पास फेसबुक अकाउंट न हो। केवल नार्थ अमेरिका में 74.4%+ फेसबुक उपयोगकर्ता है।

facebook world's biggest virtual graveyard

Facebook पर हर कोई किसी न किसी कारन अपना अकाउंट बना लेता है और एहि वजा है की फेसबुक दुनिया की सबसे पॉपुलर और व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली वेबसाइट है जिस के बारे में कोई भी रिपोर्ट गलत साबित हो सकती है।


फेसबुक उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या

फेसबुक उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या 2.32 बिलियन नहीं है बल्कि ये मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता है जिसकी सही रिपोर्ट statista.com पर पढ़ी जा सकती है। लेकिन फेसबुक पर ऐसे भी बहुत अकाउंट है जिस को चलने वाले अब इस दुनिया में नहीं है।


दुनिया का सबसे बड़ा आभासी कब्रिस्तान

वर्ष 2012 में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, 2008 से 2012 तक, 30 मिलियन मृतक फेसबुक उपयोगकर्ता खाते थे। यह आश्चर्य की बात है कि 8,000 फेसबुक उपयोगकर्ता रोजाना मर जाते हैं। यह वास्तविक समझ में आता है कि इस सदी के अंत तक, फेसबुक दुनिया का सबसे बड़ा आभासी कब्रिस्तान बन जाएगा क्योंकि इस लोकप्रिय मंच के अधिक मृतक प्रोफाइल होंगे।

जहा तक मेरा अंदाज़ा है, फेसबुक न केवल वर्चुअल कब्रस्तान बन जायेगा बल्कि अभी के समय में दुनिया का सबसे ज्यादा डेड यूजर अकाउंट केवल फेसबुक पर है। पयोगकर्ता खाते बढ़ने के साथ साथ बहुत तेजी से काम होते जा रहे है।

एहि वजा है की साल 2098 के अंत में फेसबुक एक ऐसी वेबसाइट बन जाएगी जहा पर मृतक लोगो की सबसे ज्यादा संख्या होगी। अगर आप इस स्टडी के बारे में कुछ कहना चाहते है तो कृपया कमैंट्स में लिखे।

दुनिया भर में इंटरनेट की सांख्यिकी

जैसा की आप जानते है दुनिया भर के लोग इंटरनेट का उपयोग करते है लेकिन क्या आपको पता है की दुनिया भर में टोटल इंटरनेट की स्टेटिस्टिक क्या है? अगर मेरा अंदाज़ा सही है तो आप इसके बारे में जरूर जानना चाहेंगे।

live internet statistics

Worldwide इंटरनेट की संख्या बहुत तेजी के साथ आगे बढ़ती जा रही है प्रति एक सेकंड में हजारों की तदाद में आगे की तरफ चल रही है। मैं आपको हैरान करने वाली दुनिया भर में इंटरनेट की संख्या बताने जा रहा हु जिस पर आप यकीन नहीं करेंगे।


Worldwide Internet Statistics

वर्ल्डवाइड इंटरनेट स्टेटिस्टिक्स को कुछ वेब्सीटेस ट्रैक करने में लगी है लेकिन अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है की क्या ये सांख्य सही है या गलत। इस लिए मैंने ये आर्टिकल केवल मनोरंजन करने के लिए लिखा है।


#1. दुनिया में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या:

दुनिया भर में उपयोगकर्ताओं की कुल संख्या ४१९५०३८६८८ है। ये मैं खुद नहीं बोल रहा हु बल्कि ये देता "Live Internet Stats" बता रहा है।


#2. दुनिया में वेबसाइटों की कुल संख्या:

"Live Internet Stats" के अनुसार दुनिया में वेबसाइटों की कुल संख्या १६७८३५६२६३ है जो बहुत ही तेज़ी के साथ बढ़ रही है।


#3. भेजे गए कुल ईमेल प्रति सेकंड:

दुनिया भर में प्रति सेकंड भेजे जाने वाले ईमेल की कुल संख्या 127,903,363,943 है जो कि दी गई वेबसाइट के अनुसार है।


#4. गूगल खोजों की कुल संख्या:

वर्ष 2019 के नवीनतम अध्ययन के अनुसार, इंटरनेट उपयोगकर्ताओं द्वारा दुनिया भर में 5.5 बिलियन से अधिक Google खोज की जाती हैं लेकिन "इंटरनेट लाइव आंकड़े" ३२८२२०९६३३ गूगल खोजों के बारे में दावा करते हैं, जो अब तक किए गए हैं और प्रति सेकंड 75,800 से अधिक खोज क्वेरी की जा रही हैं।


#5. प्रतिदिन भेजे जाने वाले ट्वीट्स की कुल संख्या:

"Live Internet Stats" के अनुसार, भेजे गए ट्वीट्स की कुल संख्या 386,213,950 है जो प्रति दिन 1,175,68 ट्वीट्स के बराबर है।


#6. प्रति दिन इंस्टाग्राम अपलोड की कुल संख्या:

इंस्टाग्राम अपलोड की कुल संख्या आश्चर्यजनक है। दुनिया भर में लोग इंस्टाग्राम पर 95 मिलियन तस्वीरें और वीडियो साझा करते हैं, जो हमारी कल्पना से अधिक तेजी से बढ़ रहा है।

अगर आप इंस्टाग्राम यूजर है तो आप खुद अंदाज़ा कर सकते है की आप अपने अकाउंट पर कितने पोस्ट्स अपलोड करते है। हालाँकि सूत्रों का कहना है की ये सांख्य किसी हद तक सही भी क्यों की इस स्टडी को पूरी तरह से जांचने के बाद ही पब्लिक के सामने लाया जाता है।

Thursday, April 04, 2019

सावधान: खोई हुई USB Drive को न छुएं

क्या आपको कभी सड़क पर USB ड्राइव या पेन ड्राइव मिला है? अगर अगर फ्यूचर में मिल भी जाये तो क्या आप उस पेन ड्राइव का उपयोग करेंगे? मैं ऐसा कभी भी नहीं करूँगा और न ही किया है। ऐसा करना डिवाइस सिक्योरिटी को बरदाद कर सकता है।

lost usb flash drives

Caution: क्या कभी सोचा है की एक USB ड्राइव से क्या हो सकता है? कंप्यूटर और स्मार्टफोन में किसी भी तरह का एक्सटर्नल मेमोरी बहुत कुछ कर सकता है जिसका हम अंदाज़ा भी नहीं लगा सकते। फ़्लैश मेमोरी, मेमोरी कार्ड, और दूसरी एक्सटर्नल स्टोरेज से आपका सिस्टम हैक हो सकता है।


खोई हुई USB ड्राइव का परिणाम

साइबर सिक्योरिटी को लेकर एक पेन ड्राइव की कीमत बहुत ज़ियादा होती है क्यों की कुछ साइबर क्रिमिनल यूऍसबी फ्लैश ड्राइव को जानबूझ कर सड़क पर फेंक सकते है। इसकी वजा कंप्यूटर वायरस को फ़्लैश ड्राइव की मदद से फैलाना होता है जिसकी पकड़ में कोई भी व्यक्ति आ सकता है।

मिसप्लेस्ड USB ड्राइव का उपयोग करना किसी खतरे से काम नहीं होता। जब हम रिमूवेबल स्टोरेज को अपने सिस्टम के साथ कनेक्ट कर देते है तो उसका डाटा बड़ी आसानी के साथ हमारे कंप्यूटर में ट्रांसफर होता है और कंप्यूटर वायरस खुद ब खुद ट्रांसफर हो जाता है।

कंप्यूटर मैलवेयर को न केवल ऑनलाइन फैलाया जा सकता है बल्कि इसको ऑफलाइन मोड में भी एक पक से दूसरे पक में ट्रांसफर किया जा सकता है। अगर आपको किसी भी तरह का पेन ड्राइव, फ़्लैश ड्राइव, USB ड्राइव, मेमोरी कार्ड रस्ते पर पड़ा हुआ मिल जायेगा तो उसके साथ छूना भी नहीं चाहिए।

क्या आप एक्सटर्नल स्टोरेज को फॉर्मेट करने के बाद उपयोग करेंगे? मैं आपको बता दू की घातक कंप्यूटर प्रोग्राम फॉर्मेट होने से पहले ही सिस्टम में ऑटोमेटिकली चला जाता है क्यों की इन प्रोग्राम्स को बड़ी चालाकी के साथ डिज़ाइन किया होता जाता है ताकि ये किसी भी खतरे से निपट सके।

इस टॉपिक पर सोचने और समझने की ज़रुरत है...... क्या आप इन टिप्स को फॉलो करेंगे? अगर आप मेरी बात से सहमत नहीं है तो आप मुझे कमैंट्स में बता कर अपना फीडबैक दे सकते है।

Wednesday, April 03, 2019

टेक्नोलॉजी के बारे में 9 तथ्य

आज मैं टेक्नोलॉजी के बारे में ऐसे २० तथ्य शेयर करने जा रहा हु जिसको पढ़ कर आप हैरान हो जायेंगे। इस आर्टिकल को पढ़ने से आपकी नॉलेज बढ़ जाएगी जिसको आप कहीं पर भी बता कर अपने दोस्तों को झटका दे सकते है।

technology facts in hindi

Interesting fact: अगर आपसे कोई ये पूछे की गूगल किस ने बनाया है तो आपको चरण लररय पेज और सेर्गेन ब्रिन का नाम सुनाई दे गए। लेकिन अगर कोई आपसे ये पूछे की गूगल पर सर्च होने वाले शब्द कोनसा है तो आप साइलेंट रह जाओ गए। इसी शांति से निपटने के लिए मैंने ये पोस्ट लिखा है।


टेक्नोलॉजी के बारे में रोचक तथ्य

मैंने इंटरेस्टिंग फैक्ट्स को क़ुएस्तिओन्स और अंसवेरस के रूप में लिखा लिखा ताकि आपको समझने में आसानी हो जाये।


Q 1. SSD हार्ड ड्राइव की सबसे बड़ी क्षमता क्या है?

Ans. सैमसंग ने सबसे बड़ी SSD कैपेसिटी हार्ड ड्राइव बनायीं है जिसका साइज 30TB है लेकिन इससे भी बड़ी SSD कैपेसिटी ह्रड्रिवे निंबस डाटा ने बनाया है जो 100TB है।


Q 2. पहले क्या आया था! ईमेल या वर्ल्ड वाइड वेब?

Ans. ईमेल और वर्ल्ड वाइड वेब की हिस्ट्री पढ़ कर अप्पको पता चल सकता है की सबसे पहले ईमेल का  आविष्कार हुआ है जिसको अक्टूबर 29 1969 सामने लाया गया।


Q 3. डोमेन पंजीकरण के लिए शुल्क क्या था?

Ans. 1995 से पहले डोमेन रजिस्ट्रेशन बिलकुल मुफ्त था जिसको नेशनल साइंस फाउंडेशन ने टेक कंपनी "नेटवर्क सोलूशन्स" के और से भुगतान करने के लिए कहा।


Q 4. वह व्यक्ति कौन था जिसने केवल एक घंटे में बहुत सारे डोमेन पंजीकृत किए?

Ans. अप्रैल 2012 में माइक मैं नामी एक व्यक्ति ने 24 घंटे में 15,000 डोमेन रजिस्टर किये।


Q 5. दुनिया का पहला फोटोग्राफर कौन है?

Ans. आपको ये सुन कर हैरानी होगी की 1826 में Joseph Nicéphore Niépce नामी एक फोटोग्राफर ने सबसे पहले फोटो खींचा।


Q 6. कंप्यूटर विज्ञान में दुनिया का पहला Ph.D करने वाला कौन है?

Ans. 1965 में पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी के एक स्टूडेंट को कंप्यूटर साइंस में Ph.D की डिग्री मुकमल की और वह स्टूडेंट कोई और नहीं बल्कि रिचर्ड वेसेलबलात था। इसके बाद मैरी केनेथ केलर ने 1913 में कंप्यूटर साइंस में Ph.D की डिग्री मुकमल कर और इस तरह से ये यूनाइटेड स्टेट्स की सबसे पहली Ph.D लड़की बन गयी।


Q 7. इंटरनेट की उम्र क्या है?

Ans. ये क्वेश्चन शायद आपके लिए किसी मज़ाक से काम नहीं होगा लेकिन मैं आपको बताता चालों की इस समय इंटरनेट की उम्र 10979 दिन है जो मैथ के हिसाब से 30 साल के बराबर है। आप इस इनफार्मेशन को खुद भी howoldistheinter.net पर एक्सेस कर सकते है।


Q 8. विंडोज का मूल नाम क्या था?

Ans. विंडोज जिसको हम माइक्रोसॉफ्ट विंडोज के नाम से जानते है का असली नाम इंटरफ़ेस मैनेजर था जिसको माइक्रोसॉफ्ट के एक कर्मचारी ने बदल दिया।


Q 9. हर महीने में कितने वायरस बनते हैं?

Ans. कंप्यूटर वायरस हर महीने में लगभग 6000 के करीब बनाये जाते है।

ये थे ९ फैक्ट्स जो मैंने टेक्नोलॉजी के बारे में शेयर किया। अगर आपको ये पोस्ट ाचा लगा हो तो कमैंट्स में बताये ताकि मैं रोज़ ऐसे ही पोस्ट्स आपके लिए लिखता राहु।

Tuesday, April 02, 2019

विश्व का पहला आविष्कार और आविष्कारक

आदमी की ज़िन्दगी को केवल एक ही इंसान ने अच्छा नहीं बया है और न ही टेक्नोलॉजी को एक ही आदमी आगे ले जा सकता है। आज तक दुनिया में जो भी कुछ है उस में बहुत सरे लोगो का योगदान है।

inventions and inventors

Technology का नाम सुन कर हमें ये लगता है की शायद इससे बिल गेट्स और मार्क ज़ुकेरबर्ग ने बनाया होगा। ज़मीन से लेकर आसमान तक जो कुछ भी मन-मेड है उसको बहुत साल पहले अन्य लोगो ने बनाया है और आज की जनरेशन उन्ही चीज़ो की इम्प्रूव कर के हमारे सामने लेट है।

आज मैं आपको ये बताने जा रहा हु की दुनिया में सबसे पहले किसी ने क्या बनाया है, कब बनाया है, कैसे बनाया है और किस ने क्या किया है जिसको सुन कर आप ज़रूर हैरान हो जायेंगे।

ये आर्टिकल आपके एक्साम्स में भी काम आ सकता है क्यों इन फैक्ट्स को बहुत काम लोग जानते है।

सत्य #1. दुनिया की सबसे पहली वेबसाइट अगस्त 6, 1991 में Tim Berners-Lee ने बनायीं है जिसका एड्रेस http://info.cern.ch/hypertext/WWW/TheProject.html है।

सत्य #2. हम सब मोबाइल फोन का उपयोग करते है लेकिन क्या आपको पता है की मोबाइल फ़ोन को सबसे पहले किसने बनाया है? अप्रैल 3, 1973 में Martin Cooper ने दुनिया का सबसे पहला मोबाइल फ़ोन का आविष्कार किया था। आदमी है जिस ने दुनिया की सबसे पहली फ़ोन कॉल अपने मोबाइल से की।

सत्य #3. दुनिया के सबसे पहले स्मार्टफोन का नाम Simon Personal Communicator था जिसको IBM ने 1992 में बनाया।

सत्य #4. विश्व के पहले वेब सर्वर का नाम CERN httpd था जिसको अब W3C httpd के नाम से जाना जाता है. W3C httpd को 1960 में तीन बड़े साइंटिस्ट्स ने बनाया जिनके नाम Tim Berners-Lee, Ari Luotonen और Henrik Frystyk Nielsen था।

सत्य #5. सबसे पहले मोबाइल की कीमत $3,995 था जिसको Motorola ने मार्च 6, 1983 में भेजा।

सत्य #6. जानते है की दुनिया का पहला ईमेल किसने और कब भेजा? Ray Tomlinson ने 1971 में अपने एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में टेस्ट ईमेल सेंड किया।

सत्य #7. हम लोग दिन में कितने डोमेन रजिस्टर करते है? बहुत सरे! लेकिन विश्व का सबसे पहला रजिस्टर होने वाला डोमेन Symbolics.com था जिसको मार्च 15, 1985 में रजिस्टर किया गया।

सत्य #8. गूगल पर सबसे किस ने सर्च किया और सर्च करने वाले ने क्या खोजै था? Gerhard Casper!!! गिरहंद कॉपर Stanford University का प्रेजिडेंट था जिसके सामने गूगल के फाउंडर्स लररय पेज और सेर्गेय ब्रिन ने Gerhard Casper के सामने उसका नाम गूगल पर सर्च किया ताकि वह उसको ये दिखा सके की गूगल पर क्या होता है।

सत्य #9. गूगल और बिंग से पहले कोई सर्च इंजन था या नहीं। इस बात का अंदाज़ा आप Archie नामी सर्च इंजन से लगा सकता है। आर्ची सर्च इंजन को McGill University के एक स्टूडेंट ने 1990 में बनाया।

सत्य #10. आप ने कभी ऑनलाइन अद्वेर्तिसेमेन्ट के बारे में सुना होगा। लोग अपने ब्लोग्स और वेबसाइट को मॉनिटीज़ करने के लिए अपने ब्लोग्स पर अड़ बैनर लगा देते है लेकिन आपने शायद इस बात पर कभी सोंचा ही नहीं होगा की दुनिया का सबसे पहला ऑनलाइन अड़ बैनर कब और किस वेबसाइट पर लगाया था?

Joe McCambley नामी एक आदमी ने अक्टूबर 1994 में HotWired.com वेबसाइट पर अड़ लगाया था जिसको AT&T ने स्पांसर किया था।

सत्य #11. अमेज़न पर सबसे पहली किताब को खरीदने वाले आदमी का नाम पता नहीं लेकिन सबसे पहले बेचने वाली बुक का नाम Fluid Concepts and Creative Analogies: Computer Models of the Fundamental Mechanisms of Thought था जिसको Douglas Hofstadter नामी एक आदमीं ने लिखा था। इस बुक को 1995 से बेचा गया।

सत्य #12. Jimmy Wales ने अपने स्टेटमेंट में कहा था की उसने टेस्ट करने के लिए WikiPedia पर पहला एडिट किया जिसमे "Hello, World" लिखा था।

सत्य #13. आप स्मार्टफोन में कइने वीडियो गेम है? लेकिन क्या आप जानते है की पहली वीडियो गेम का नाम क्या था? Tennis for Two!! टेनिस फॉर तवो दुनिया की सबसे पहली वीडियो गेम है जिसको 1958 में William Higinbotham और Robert Dvorak ने डेवेलोप किया था।

सत्य #14. यूट्यूब के बारे में हम सब अछि तरह से जानते है लेकिन हिस्ट्री जानने वाले लोग बहुत काम है। YouTube से पहला वीडियो अप्रैल 23, 2005 समय 20:27:12 PDT पर Jawed Karim ने "jawed" यूजरनाम से अपलोड किया। जावेद करीम ने वीडियो का टाइटल "Me at the zoo" रखा है जिसको Jawed ने अपने एक फ्रेंड Yakov Lapitsky के साथ बनाया था।

यूट्यूब का पहला अकाउंट भी उसी दिन बनाया गया जिस दिन वीडियो अपलोड हुआ।

सत्य #15. फेसबुक पर सबसे पहला अकाउंट बनाने वाला आदमी मार्क ज़ुकेरबर्ग है जिस ने टेस्ट करने के लिए पहले ३ अकाउंट बया डेल और बाद में उन्हें डिलीट कर दिया।

उसके बाद मार्क ज़ुकेरबर्ग के 10 फ्रेंड्स ने सबसे पहले फेसबुक पर अकाउंट बना दिया।

सत्य #16. ट्विटर पर पहला ट्वीट करने वाला Jack Dorsey था जिस ने अपने ट्वीट में "just setting up my twttr" लिख कर मार्च 21, 2006 समय 12:50 PM PST था।

सत्य #17. साल 2007 में Chris Messina ने सबसे पहला Hashtag ट्विटर पर डाला। अगर आपको हैशटैग के बारे में जानना चाहते है तो मैं आपको बताता चालों की पोस्ट किया गया हैशटैग #barcamp था।

सत्य #18. Rich Skrenta 15 साल के लड़के ने साल 1982 में पहला कंप्यूटर वायरस बनाया जिस का नाम Elk Cloner है। एलक क्लोनेर वायरस ने Apple DOS 3.3 को इन्फेक्ट किया था जो floppy disk की मदद से एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में एंटर हुआ करता है।

सत्य #19. विश्व का सबसे पहला पक वायरस साल 1986 में पाकिस्तान में बनाया गया जिसको बाद में डिटेक्ट कर लिया गया।

सत्य #20. Seattle की पहली ऐसी फ्लाइट है जिसने अप्रैल 6, 1924 में उड़ान भरी। Seattle फ्लाइट में U.S आर्मी एयर सर्विस के 8 जवान और 4 मेचानिक्स के साथ वाशिंगटन से उड़ान भरी जिस ने अपना पूरा सफर 175 days में कर लिया।

सत्य #21. दिसंबर 17, 1903 में Wilbur Wright और Orville Wright ने एयरक्राफ्ट से पहली उड़ान शुरू की थी।

सत्य #22. रौंधे गार्डन सन (Roundhay Garden Scene) मूवी 2.11 सेकण्ड्स की है जो October 14, 1888 में रिलीज़ हो कर दुनिया की पहली मूवी बन गयी। इस छोटी सी मूवी का डायरेक्टर Louis Le Prince था।

सत्य #23. 1912 में Marconi नामी एक साइंटिस्ट ने दुनिया का सबसे पहला राडिओं स्टेशन या फिर रेडियो चैनल बया था।

सत्य #24. WRGB जिसको अब W2XB के नाम से जाना जाता है, वोर्ल्स का सबसे पहला टेलीविज़न स्टेशन है। इस स्टेशन को 1928 में नई यॉर्क की एक सिटी Schenectady में शुरू किया गया था।

जैसा की मैंने पहले बताया की टेक्नोलॉजी की दुनिया में बहुत सरे लोगो ने अपना अपना योगदान बड़ी म्हणत से किया है और इन्ही लोगो को अब पूरा विश्व याद करता है। अगर आपको आर्टिकल पसंद आया हो तो अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करे।

Saturday, March 30, 2019

बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट के बारे में चौंकाने वाली बातें

बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट का चेयरमैन कैसे बना और इसने ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने का आइडिया कहा से चुकाया? इन सभी सवालों का जवाब आपको आज इसी पोस्ट में मिल जायेगा।

bill gates and Microsoft

Bill गेट्स की कहानी हैरान करनी है जिस ने इसकी जिंदगी तब्दील करदी। इस बात में कोई शक नहीं है की बिल गेट्स दुनिया का एक कामयाब तरीन आदमी है लेकिन क्या आप जानते है की इसको ये कामयाबी कैसे और किस तरह से मिली?


Bill Gates and Master Mind Gary Kildall

अगर किसी से पूछा जाए की बिल गेट्स कौन है तो सभी ये जवाब देंगे की बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट का चेयरमैन है। लेकिन असल में इसकी असली कहानी क्या है, ये बहुत काम लोग जानते है।

माइक्रोसॉफ्ट और बिल गेट्स की कामयाबी Gary Kildall एक नामी आदमी से शुरू होती है जो एक कंप्यूटर एक्सपर्ट था। पुराने ज़माने में जब लोगो को कंप्यूटर तक चलना नहीं आता था तो Gary Kildall कंप्यूटर प्रोग्रामिंग को ABC की तरह लिखता था।

Gary Kildall एक जीनियस आदमी था जिसको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के बारे में बहुत ज्यादा नॉलेज थी। एहि वह आदमी है जिस ने बिल गेट्स को इतना बड़ा आदमी बना दिया। दरअसल Gary Kildall की एक गलती ने उसकी किस्मत में माइक्रोसॉफ्ट का नाम हटा कर बिल गेट्स लगा दिया।

साल 1977 में एप्पल ने अपना पहला कंप्यूटर बना लिया जो उस समय का सबसे बढ़िया कंप्यूटर मन जाया करता था। एप्पल का ये कंप्यूटर कुछ ही समय में बहुत मशहूर हो गया।

उस समय की एक बहुत बड़ी टेक कंपनी IBM ने एप्पल की कामयाबी देख कर अपना कंप्यूटर बनाने का फैसला कर दिया ताकि वह भी अपना नाम एप्पल की तरह हासिल करे।

साल 1980 में IBM कंपनी ने कंप्यूटर बना लिया लेकिन उनका ये कंप्यूटर बिना ऑपरेशन का था जिस को पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर की ज़रुरत थी। यहीं से बिल गेट्स की कामयाबी की शुरुआत हुई।

बिल गेट्स एक प्रतिभाशाली व्यक्ति था और इसी बात को नज़र में रखते हुए IBM ने इसको अपने कंप्यूटर के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने को कहा। IBM से पहले बिल गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट बना लिया था और इसको पुरे 5 साल हो चुके थे।

IBM ने बिल गेट्स के साथ एक एग्रीमेंट किया जिस में ये लिखा था की बिल गेट्स IBM का ये सीक्रेट प्लान किसी से भी ना कहे। गेट्स ने IBM से कहा की उनके पास अभी कोई सॉफ्टवेयर मौजूद नहीं है।

गेट्स ने IBM से Gary Kildall का नाम बताया ताकि वह इस कंपनी के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम बना सके। इस से पहले मैं आपको ये बताता चलो की Gary ने IBM से पहले दुनिया का पहला ऑपरेटिंग सिस्टम बनाया था जिस का नाम CM/P था।

Gary ने CP/M ऑपरेटिंग सिस्टम 1972 में बनाया था। 1972 से पहले सभी अलग-अलग ऑपरेटिंग सिस्टम हुआ करता था लेकिन Gary ने CP/M बना कर इस समस्या को दूर कर दिया और सभी कम्प्यूटर्स के लिए CP/M बनाया।

Gary एक बिजनेसमैन की तरह नहीं सोचता था। इस लिए इसने पैसों के लिए कभी काम नहीं किया था लेकिन इसकी बीवी ने Gary को अपनी कंपनी खोलने के लिए मजबूर किया और आखिर में Gary ने Digital Research नाम से एक कंपनी खोली जो अपने समय की सबसे अछि और मैसूर कंपनी थी।

जैसा की मैंने पहले बताया की बिल गेट्स ने IBM के साथ एग्रीमेंट किया था और उस एग्रीमेंट के अनुसार बिल गेट्स ने Gary को IBM के बारे में नहीं बताया लेकिन बिल गेट्स ने Gary को बस इतना बताया की मैं आपके पास कुछ लोगो को भेज रहा हु उनसे मिल लेना।

Gary ने गेट्स की बातों को सीरियसली नहीं लिया और उस ने गेट्स की बात को भुला कर एक जहाज़ किराये पर लिया और कहीं घूमने चला गया। ये दिन Gary की ज़िंदगी का सबसे बुरा था।

IBM के लोग इसके घर पहुंचे और इनकी बात इसकी बीवी से हुई। जैसा की मैंने पहले कहा की Gary की बीवी अपने ज़िद कर के अपनी कंपनी खोली थी तो इसने IBM का काम करने से साफ़ इंकार कर दिया। ये बात Gary को पता नहीं चली और इसके हाथ से समय निकल पड़ा।

IBM ने बिल गेट्स को ये बात बता दी की Gary की वाइफ ने साफ़ इंकार कर दिया। गेट्स ने ये फैसला कर लिया की अब वह IBM के साथ काम कर के सेटल हो जायेगा। गेट्स ने अपने छोटी कंपनी Seattle Computer की मदद से एक ऑपरेटिंग सिस्टम ख़रीदा जिस की कीमत 75000 dollar था।

ये ऑपरेटिंग सिस्टम Gary के CP/M की कॉपी थी जिसका नाम गेट्स ने 86-DOS था। बिल गेट्स ने इस ऑपरेटिंग सिस्टम को CP/M से विभिन्न बनाने के लिए इस में कुछ परिवर्तन कर दिया ताकि ये Gary के CP/M से विभिन्न लगे। आखिर में गेट्स ने इस का नाम MS-DOS कर दिया जिसकी मदद से IBM ने अपना पहला कंप्यूटर 1981 तैयार कर लिया।

MS-DOS देखते ही देखते इतना लोकप्रिय हो गया की इसने एप्पल को भी पीछे छोड़े दिया। पहले 2 सालों में IBM ने 20,00,000 कंप्यूटर बेचे और गेट्स भी बहुत फेमस आदमी बन गया।

गेट्स में अपने ऑपरेटिंग स्यतेम को दूसरी कंपनियों को बेच दिया और देखते ही देखते ये एक अमीर आदमी बन गया।

उधर Gary को साडी बातों का पता चल गया और उसने बिल गेट्स के साथ साथ IBM को भी अदालत में ले जाने की ठान ली। IBM को सुलझाने के लिए Gary का ऑपरेटिंग सिस्टम भी लिया और उनसे कहा की की हम आपका OS और बिल गेट्स का OS मार्किट में लगा देंगे। लोगों को जो पसंद आएगा गए उसी का OS पैसे कमा सकता है।

दोनों OS एक जैसे थे और फिर भी IBM ने ना जाने क्यों Gary के OS की कीमत 140 dollar रख दी और गेट्स के OS की कीमत केवल 40 dollar रख दी। दोनों OS एक जैसे होने की वजह से लोगो ने बिल गेट्स का 40 डॉलर वाला OS ख़रीदा और Gary का 140 वाला किसी ने भी नहीं लिया।

Gary बहुत ही अपसेट हो गया और उसने अपनी बिकी से तलाक लिया। इस तरह से बिल गेट्स ने Gary का operating system को कॉपी कर के अमीर आदमी बन गया।

दुनिया में जितने भी अमीर तरीन लोग है उनके साथ किसी न किसी तरह का विवादास्पद हुआ है जो आम आदमी के ख्याल से भी बहार होता है। अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी तो इससे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Mysterious History of Facebook (फेसबुक का इतिहास)

Facebook ka रहस्यमय इतिहास kya hai aur ye kaisa banaya gaya? Facebook ka naam kya tha aur is website ko asal me kis ne banaya hai. In sabhi questions ka answer is article me milega jise sun kar aap yakeen nahi karenge.

facebook history

Facebook ki history bahut hi completed aur funny hai jiske bare me sabhi log puri tarah se jankari nahi rakhte hai. Sabko yehi pata hai ki facebook ko Mark Zuckerberg ne banaya hai lekin idea kis ne diya, ye aapko abhi pata chal jayega.


History of Facebook

Facebook ki history me Mark Zuckerberg se lekar judvan bhai jaise log shamil hai jinhone facebook ka idea diya aur baad me Mark Zuckerberg ko is ke liye jurmana bhi dena pada.

Facebook ko banane wala Mark Zuckerberg 1984 New York me paida hua. Uske pita "Edward Zuckerberg" ek dentist the aur Mark ki mom "Keren Zuckerberg" ek Psychiatrist (मनोचिकित्सक) thi.

फेसबुक का इतिहास: Mark ko saal 2002 me Howard university me admission mil gaya jaha se facebook history ki shuruwat FaceMash website se hui. Jis ki wajah se University ki official website crash ho gayi.

Basically, Mark ne university ki official website ko hack kar ke ladkiyon ki pics chura li aur un pics ko apni website "FaceMash" par daal diya. Is baat ke liye Mark ko university se nikal diya gaya. "FaceMash" website ne Mark Zuckerberg ko bahut famous bana diya aur isi beech Howard university ke 3 students Divya Narendra, Tyler Winklevoss and Cameron Winklevoss ne Mark se contact kiya.

Tyler Winklevoss aur Cameron Winklevoss dono twin brothers (जुड़वां भाई) hai aur Divya Narendra unka dost tha. Teeno students bahut hi ameer ghar ke the aur in teeno ne Mark ko ek website banane ko kaha. Mark bachpan se hi bahut hi genius tha jis ne 12 saal ki age me software banaya.

Teeno students ne Mark ko Howard connection naam ki website banane ko kaha jis se Howard ke students ek dusre ke sath baat kar sakte.

Mark ne kaha ki woh website banane ke liye tayar hai aur mark ne kaam karna shuru kar diya. Lekin mark ne Howard connection ka idea sun kar iske mind me Facebook ka khayal aaya aur is ne facebook par kaam karna shuru kar diya.

Teeno students ne Mark se poocha ki kya woh Howard connection website par kaam kar raha hai? Mark ne kaha ki haan me kaam kar raha hu lekin Mark ne unhe bataye bina FB par chori chori kaam karna shuru kar diya.

Mark ne university ko bye bye bol kar california me shift ho gaya jaha is ne apne 4 friends Andrew McCollum, Dustin Moskovitz, Eduardo Saverin, aur Chris Hughes ke sath mil kar FB par kaam karna shuru kiya.

Is tarah se facebook website The facebook ke naam se shuru hui jis ko baad me rename kar ke Facebook kar diya gaya. FB par 2004 ke last month tak 10,000,00 users ho chuke the. Dheere dheere Facebook pure world me famous ho gaya aur sath hi sath me Mark ne Facebook ko aur bhi acha banaya.

Kahani yaha par khatam nahi hui. Facebook ka idea dene wale 3 students ne 2006 me Mark par case thok diya jiske liye Mark ko 65 million dollars teeno students ko dene padi.


Facebook Wayback Machine

अतीत में फेसबुक कैसा दिखता था: Facebook November 27, 2005 - 2006 me kaisa dikhta tha? Maine facebook ke screenshots add kiye hai jinse aap andaza laga sakte hai ki facebook pehle kaisa dikh raha tha aur kis tarah ka tha.

facebook in 2005


Facebook in January 2007

Saal 2007 me Facebook ko Mark Zuckerberg production ke naam se bhi jana jata tha. 2006 me facebook ne users ko ek valid email address add karne ka option diya jis se woh password reset kar sakte.

Facebook in January 2007


Facebook in January 6, 2008

Varsh 2008 me facebook founder ne Username search introduce kiya jis ki help se users facebook apne friends ke naam search kar sakte.

january 2008


Facebook in 2009

Facebook ne 2009 me password ko browser me save rakhne ke liye Remember me feature add kiya.

facebook in 2009

Ab me facebook ke bare me kuch interesting baatein batata chalo jo shayad aap ne pehle kabhi nahi suni hogi.

Facebook ka color blue kyon hai aur facebook ne isi color ko kyon choose kiya? Iske 2 reasons hai. Ek reason ye hai ki Blue color bharose (trust) ki nishani hota hai aur second reason ye hai ki Mark Zuckerberg ko Green aur red color ki color blindness hai. Yane woh in colors ko identify nahi kar sakta hai.

Facebook Like Button: Facebook ke like button ka naam pehle Awesome button tha jisko Mark ne 2007 me like button ka naam rakh diya.


Facebook ke Bare Me Interesting Facts (रोचक तथ्य)

  1. Facebook par har ek second me 8 naye accounts banaye jate hai (8x60 =480). Yaneki facebook par har ek minute me 480 naye accounts banaye jate hai.
  2. Average ke hisab se, Smartphone use karne wale log taqreeban har din 14 bar Facebook me login karte hai.
  3. Duniya me har din 8000 facebook user ki maut ho jati hai.
  4. How to Close Deceased Person's Account (In Hindi)

  5. Duniya me sabse jyada dead profiles facebook par hai.
  6. Average ke hisab se, duniya me har ek facebook user ek din me 35 minutes spend karta hai.
  7. Facebook par 8.7% accounts fake hai.
  8. Facebook ne 583 million fake accounts ko saal 2018 ke 3 months me delete kar diya.
  9. Mark Facebook ka CEO hai lekin profit ko chhod kar Mark ki salary $1 hai. Ye duniya ke ameer tareen logo me se ek mana jata hai.
  10. Facebook par 76% female accounts hai aur 66% male accounts hai.
  11. Facebook par har din 300 million photos upload kiye jate hai.
  12. Facebook par har ek minute me 510,000 comments post kiye jate hai.
  13. 18-24 saal ke 50% log subah jagte hi FB visit karte hai.

Facebook ke bare me aur bhi kuch interesting baatein hai jiske liye me alag post share karunga taki aapko puri jankari mil sake. Agar aapko ye post acha laga ho to comments me bataye.

Wednesday, March 27, 2019

Vishv Ke Sabse Ghatak Programming Languages

Hum daily life me internet, smartphones, laptops, aur Apps use karte hai lekin kya aapko pata hai ki is me sabse bada role programming languages ka hoti hai? Computer programming language ki madad se useful software banaye jate hai lekin useful hone ke sath-sath iska galat upyog kafi bhayanker hota hai?

deadliest programming languages

Programming languages ki duniya me aise bhi kaam hote hai jinko imagine bhi nahi kar sakte. Aaj main kuch khatarnak प्रोग्रामिंग languages ke bare me baat karunga jisse ghatak software develop kiya jata hai. Itna ghatak ki ek minute me kisi bhi aadmi ki halat bigad sakta hai.


Ghatak Programming Languages

Duniya me total 700+ programming languages hai jinko different purpose ke liye use kiya jata hai. Koi bhi computer language useless nahi hota but inka galat istemal useless hota hai. Main aapke sath kuch dangerous languages share karne ja raha hu taki aap up-to-dated rahe.


1. Esoteric Programming Language

Esoteric world ki ek aisi computer language hai jiska upyog hackers karte hai. Esoteric world ki sabse strong language hai jisko aise experiments ke liye use kiya jata hai jo understand karne me kafi mushkil hota hai.


2. Hypertext Preprocessor (PHP)

PHP server-side computer language hai jis ka upyog web development ke sath-sath hacking aur penetration testing ke liye kiya jata hai. PHP ke sath dangerous virus develop kiya jata hai jo bahut hi ghatak hota hai.


3. Perl

Perl system administrators ki scripting language hai jo jyada tar LINUX aur database programming me use kiya jata hai. Is language ki madad se data ko extract kiya jata hai jiske galat istemal se ghatak results mil sakte hai. Perl language Hackers ke liye missile ki tarah kaam karta hai jis ke zariye code ko badi aasani se debug kiya jata hai.


4. Ruby

Ruby language every hackers ke liye ek dream hota hai jis ke zariye woh C++ ke sath combine karke softwares banate hai. Ruby ko sikhna aasan hai lekin jitna Ruby ko sikhna aasan hai utna hi jyada ye ek powerful language hai.


5. Python

Python language Google bhi use karta hai lekin asal me python hota kya hai? Python language se ethical hackers apne tasks ko automatic mode par rakhte hai jis ki madad se attacker ko jyada kaam bhi karna nahi padta hai. Ye language bahut hi powerful hai jise unauthorize access karne me use kiya jata hai.


6. Structured Query Language (SQL)

SQL language bhi PHP ki tarah server-side language hai jo database me use kiya jata hai. Is language ko ethical hacking ke liye kafi time se use kiya jata hai jise storage ko manipulate kiya jata hai. Attackers SQL ke database me malicious code inject karke data ko destroy kar sakte hai.

Programming languages ko na keval software field me use kiya jata hai but inhe database aur storage ke liye bhu use kiya jata hai. Even antivirus bhi inhi ki madad se work karta hai. Agar kisi App ya web server par attack hota hai to us attack ko प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ki madad se scan aur remove kiya jata hai. Malware ko manually bhi remove kiya jata hai lekin detection ke liye computer languages ka upyog kiya jata hai.

Duniya Ke 5 Ajeeb Gadgets | अजीब गैजेट्स

Hum log smartphone bahut time se use kar rahe hai lekin kya aap ne socha hai ki smartphone ko ab control karna kitna easy aur advanced ban chuka hai? Aaj main aapko unbelievable gadgets ke bare me batane ja raha hu jo sune me kafi ajeeb lagta hai.

Weird Gadgets

Bmartphone gadgets ki wajah se Android OS me bahut development hui hai jiske bare me sun kar aadmi shock ho jata hai. Mobile phones me games hone ki wajah se aadmi inka addicted ban chuka hai aur is addiction ko tech companies aur bhi mazedar banane me lagi hui hai.


Unbelieveabe Gadgets

2019 me aane wale gadgets ki list maine is article me cover kiya hai jinse market me kohram macha hai. Chaliye ab baat karte hai ki aise kon se weird gadgets aaye hai jinke bare me aap sunne ke liye itne betaab hai.


1. MUJA TouchPad

Agar aap game lover hai ya phir smartphone ke addicted hai to aap touchscreen par kitni ungliya use karte hai? Obviously only 1 -2! Ab aisa nahi hoga. MUJA touchpad se ab aap 6 fingers ek sath use kar sakte hai. Is gamepad ko cell phone ke peeche bluetooth ki madad se attach kiya jata hai aur screen ko bina touch kiya at a time 6 fingers use kar sakte hai.

MUJA TouchPad


2. GravaStar Speaker

GravaStar Bluetooth speaker robot ki tarah hai jiska sound 20KHz hai. GravaStar magnetic core se bana hai jo sound produce karne par ghumta rehta hai.  Iska sound sci-fi hai jis ka upyog aap ghar me bhi kar sakte hai aur ghar ke bahar bhi. Is speaker ka shape gool hota hai jo iska design sexy bana deta hai.

GravaStar Bluetooth speaker ka battery backup 30 hours hai aur iska weight 1.6kg hai. Agar regular speakers ki baat ki jaye to unka sound usi direction me sunai deta hai jis taraf unhe rakh diya jata hai lekin GravaStar ko is tarah se design kiya hai ki ye soundwave ko 4 taraf se rotate karta hai.

GravaStar Bluetooth speaker


3. Crack Light

Kya aap student, blogger ya phir Youtuber hai? To aapke liye is tool ka hona bahut hi important hai. Crack light bahut hi slip aur powerful hai jisko USB cable ki madad se smartphone ke sath connect kiya jata hai jo suraj ki tarah pure room me light deta hai. Crack light ka weight only 19 gram hai jo ek sikke se bhi kam hota hai. Ye waterproof hone ke sath-sath bahut hi beautiful hai.

crack light


4. Wearable Keyboard/Mouse

Wearable mouse kaho ya keyboard. Ye device mouse/keyboard controller hota hai jo basically, ring ki tarah hota hai jisko ek hath ki 5 fingers me pehna jata hai. Is me hota kuch yun hai ki jab bhi aap apna hand mouse ki tarah ghomate hai to mobile screen ko bina touch kiye use kar sakte hai. Is device ko laptop ke liye bhi use kiya jata hai. Wearable mouse ko bluetooth ke zariye connect kiya jata hai aur iski battey 370Am battery backup hota hai.

wearable keyboard


5. Lynq Tracker

Lynq tracker bahut hi powerful device hai jo real-time location track karta hai. Lynq ki range 3-5 km hai aur battery backup 3 days hai. Agar aap ke chote bache akele market me jate hai ya phir swimming karne jate hai to Lynq tracker ko hamesha unke sath rakhe taki unki location par nazar rakh sake. Is device ki madad se 10 logo ki locations ko ek sath track kiya jata hai.

lynq tracker

In devices ki help se aap apna kaam easy and useful bana sakte hai. Gadgets humare smartphones, laptops, aur games ko advanced aur most useful bana dete hai jinka upyog karne se koi bhi mushkil kaam aasan ho jata hai. Lekin, kuch gadgets ka price bahut hi jyada hota hai jin ko afford karna mushkil ho jata hai.

Tuesday, March 26, 2019

Duniya Ki Sabse Amazing Websites | अद्भुत वेबसाइटें

Hum har din internet time spend karte hai lekin kya aapne kabhi socha hai ki internet par duniya ki sabse अद्भुत वेबसाइटें konsi hai? Internet par na keval crime hota hai balki internet par ache ache websites ka bhandar bhi maujood hai jinhe dekh kar aap ko bahut maza aayega.

world's amazing websites

Best websites dekh kar aap sachi me enjoy karenge. Har ek site ka alag-alag design hone ke sath-sath different functions hai jo shayed aapne aaj tak nahi dekhi hogi. Main aaj aisi hi kuch websites ki list bana kar aapke samne rakh du ga taki aapko shock lag jaye.😉


Top 11 Amazing Websites

To chaliye friends ab main 2019 ki websites ke features one-by-one cover karunga taki aap website visit karne se pehle hi inke features pata kar sake.


1. Radio Garden

radio.garden website duniya ki sabse achi aur amazing website hai jaha par aap kisi bhi country ka radio station sunn sakte hai. Aap ko bas globe ghumana hai aur aapko favourite station automatically play ho jayega. Lekin agar aap radio station ki frequency jante hai to aap search box me frequency enter karke kisi bhi station ko tune kar sakte hai.


2. VirusTotal

virustotal.com meri sabse favourite website hai. Is website par hota kuch yun hai ki agar aapko lagta hai ki kisi file, domain, IP address me virus hai to aap virustotal par ja kar files, domains, IP addresses ko online scan karke virus remove kar sakte hai.


3. FlightAware

flightaware.com ek aisi website hai jaha par aap kisi bhi country ki flight ka status online track kar sakte hai. Aapko karna kya hai, bas Airline ka naam aur fight number enter karna hai. Iske alawa, aap country ka naam aur flight destination enter karke live status dekh sakte hai. FlightAware na keval flight status dikhata balki ye flight se related har cheez ko track kar leta hai.


4. Hacker Typer

hackertyper.com website ko aap kisi bhi halat me miss na kare kyon ki ye site aapke friends ka mind ek minute me ghuma sakti hai. Is website par jane ke baad, aapko keyboard se koi bhi key press karna hai. Press karne se website me automatically hacking languages type ho jati hai jo aapki girlfriend/boyfriend ko ek pal me impress kar sakta hai jaise ki aap sachi me kisi website ko hack kar rahe hai.


5. Mathway

mathway.com ki khaas baat ye hai ki agar aap ke paas koi bhi complicated math questions hai to aap is website par 1 second me solve kar sakte hai. Even ki agar aapke paas math question ki photo hai to aap us photo ko upload karke badi easily answer jaan sakte hai. Mathway website photo par likha hua question ko auto detect kar leta hai.


6. Background Burner

burner.bonanza.com images par lage background ho hatane me expert hai. Agar aapko kisi bhi image ka background erase karna hai to is se achi website aapko nahi mil sakti hai but agar aapko is se bhi achi site pata hai to mere sath share kare.


7. AccountKiller

accountkiller.com un logo ke liye hai jinhe social media accounts ko delete karna nahi aata hai. Is website par kisi bhi tarah ka account delete karne ke alawa, deactivate bhi kar sakte hai. Accountkiller me hota kuch yun hai ki is me sabhi accounts ka delete link direct diya hota hai jis par click karne se aap direct delete option par chale jate hai.


8. Receive SMS Online

receive-sms-online.info duniya ki popular website hai jo kisi bhi number se online SMS receive karti hai. For example, agar aap kisi ke sath apna number share karne se darte hai to aap is website ka upyog karke real-time SMS receive kar sakte hai. Basically, ye ek Android application hai jis ko aap download karke free service enjoy kar sakte hai.

Confidential PIN receive karne ke liye third-party websites ka upyog na kare kyon isse aapka account danger zone me land kar sakta hai. For example, agar aap gmail, facebook, twitter, instagram Et cetera ka password reset karne ke liye third-party website ka upyog karenge to is se aapka account hijack bhi ho sakta hai. Maine "Receive Online SMS" website ko keval entertainment purpose ke liye add kiya hai.

9. Hotel WiFi Test

Kya aap kisi unknown place par picnic ke liye jana chahte hai? Jab hum kahin par bhi jate hai to hume sabse pehle is baat ki tension rehti hai ki waha ke hotels ka wifi speed achi hai ya nahi. hotelwifitest.com Website par aap kisi bhi city ka best wifi wala hota track kar sakte hai.


10. GetHuman

Agar aap kisi badi company se contact karte hai to contact ke dauran aapko waiting me rehna padta hai. gethuman.com par aap kisi bhi company ka customer waiting status check kar sakte hai. Iske alawa, aap is website par kisi bhi company ka contact number search kar sakte hai jaise Amazon, Google, Facebook, twitter etc.

Kisi bhi company ko contact karke apna password, credit card, username, bank account number share na kare. Agar aap koi critical information share karna chahte hai to pehle company ka official number confirm karna na bhule.

11. How Long To Read

Koi bhi book download ya read karne se pehle aap kisi bhi book ka reading time jaan sakte hai? YES! Agar aap koi book read kar rahe hai to aapko complete kitab padhne ke baad hi ye pata chalta hai ki kis book me kitna time padhne me lage ga. Reading time janne ke liye howlongtoreadthis.com se badh kar koi aur website mil hi nahi sakti hai.

To friends ye thi दुनिया की सबसे अद्भुत वेबसाइट ke naam jinhe maine is post me cover kiya. Agar aapko kisi aur website ke bare me pata hai jo सबसे अच्छी वेबसाइट्स hai to comments me unka naam likhna na bhule.

Monday, March 25, 2019

Duniya Ki Sabse Bhayankar Websites

Agar aap soch rahe hai ki internet par भयंकर duniya nahi hai to aap bilkul galat hai. Internet ki duniya me real world se zyada khatra rehta hai kyon ki hum anjaane me kuch bhi kar dete hai. Main aapke sath dangerous website ke kuch naam share karne ja raha hu jin ka naam sunte hi hosh ud jate hai.

creepy websites

World me kuch websites aise bhi hai jinhe dekhne ke baad hume real me imagine hone lagta hai aur darr ki waha se din me bhi taare nazar aane lagte hai. Internet par har tarah ki websites hoti hai jinke bare me log tarah tarah ki batein karte hai aur main bhi aaj aapke sath kuch aisi hi websites share karunga taki aap internet ke bare me jankari hasil kar sake.

Warning: Agar aapko koi bhi aadmi unknown website dekhne ke liye recommend kar raha hai to aap se request hai ki aap aisi websites visit na kare. Internet par bahut sari achi websites hai aap un sites par ja kar kuch acha sikh sakte hai. Is post me di gayi website visit na kare aur agar aap visit karna chahte hai to aap se request hai ki aap apne parents ki permission lekar inhe daytime me dekhe aur in sites par click na kare.

The Purpose of this Article

Trust me, mere gmail address par kuch din pehle ek email aaya jo hotmail par bana tha. Us me kuch websites ke links diye the. Email sender ne bahut kuch likha tha. Mera yaqeen mano, maine jaise hi websites ko dekhna shuru kiya to mere hosh ud gaye aur mera mind puri tarah se disturb ho gaya. Baad me maine email sender ki emails ko block kar diya.

Agar aapko is tarah ka email aaye to bina soche samjhe links par click na kare. Maine ye article is liye likha taki aap creepy websites visit karne ki koshish na kare aur na hi dusro ko visit karne ke liye recommend kare. Is post ka upyog keval research, educational purpose aur self-defense ke liye likha gaya hai.

Aap ne दुनिया के सबसे खतरनाक भूतिया रेलवे स्टेशन aur प्रेतवाधित railway tracks ke bare me suna hoga lekin प्रेतवाधित websites ke bare me nahi. To ab shuru karte hai duniya ki sabse खौफनाक, khatarnak aur Bhayankar websites ki list jinhe dekh kar mera mind ek dam se परेशान ho jata hai.


1. Replehsnatas.com

replehsnatas.com ek aisi website hai jis ke bare me bahut sare controversial baaten mashoor hai. Kehte hai ki is website ko apni country time ke according keval aadi raat me access kar sakte the. Din ko open karne par ek bada box aa jata tha jis me likha rehta tha ki apna email address do aur aadhi raat ek game khelne aa jana. Agar email address de dete to phir ek ladki ka face samne aana shuru ho jata jo bahut hi khofnak hua karta tha.

Is website par di gayi images par click karte karte ek box show ho jata jisme likha rehta ki aap jisse badla lena chahte ho us ka naam box me likh do aur me uska dabla lungi aur iske badle me ye ladki visitor ke dreams me aaya karti thi.

Mysterious: Kaha jata hai ki aisa is website me sachi hota tha aur jis aadmi ka naam box me enter karte, woh aadmi dusre din mar jata tha.

Currently, is website par ab डरावने wala kuch bhi nahi hai jo pehle hua karta tha. Ab is site par ek aadmi hath me candle liye hai jis ka title "in memory of" rakha gaya hai.

2. Bestgore.com

Bestgore website par violent real-life news, photos aur videos hai jinhe dekh kar din me bhi darr lagta hai. Basically, is website par jo kuch bhi post kiya gaya hai woh real hai. Is website par murder, killings etc. ke images aur videos dekhne ko milte hai.

Aap se request hai ki is website par na jaye. Maine is site ko aapki knowledge badhane ke liye add ki hai. Bestgore me graphic violence hai jisko dekhne ke baad darr lagta hai.

3. Survivetheoutbreak.com

"Survive the outbreak" website ek game ki tarah hai jis me keval violence dekhe ko milta hai. Is game me horrible scene hai jisko dehne se dhadkan tez ho jati hai. Main aisi websites bilkul bhi visit nahi karta.

Survivetheoutbreak.com website ko visit na kare. Is website ko keval educational purpose ke liye post me add kiya gaya hai.

4. Sentimentalcorp.org

Sentimentalcorp.org website bhi ek khofnak website hai jis me ek aadmi kisi ladki ke sath beth kar TV dekh raha hota hai aur screen par keval "nothing" nazar aata hai. Website par darr ke alawa disturb karne wale images aur videos hai jinhe dekhna bilkul galat hai.

Internet par keval disturbing, horrible, aur creepy contents nahi hai balki har tarah ke contents milte hai jin ka upyog hum research field kar sakte hai. Agar aapka dil meri tarah kamzor hai to aap aise contents se door rahe kyon ki aise contents dekhne se mind aur heart par bura asar pad sakta hai.

© Copyright 2019 TechLekhak | All Right Reserved